मेरा प्यारा चोदु देवर जी



Click to Download this video!

loading...

पिछली गर्मियों की बात है जब मेरे पति की मौसी का लड़का विकास हमारे घर आया हुआ था, वो बहुत ही सीधा साधा और भोला सा है, उसकी उम्र करीब 19-20 की होगी, मगर उसका बदन ऐसा कि किसी भी औरत को आकर्षित कर ले, मगर वो ऐसा था कि लड़की को देख कर उनके सामने भी नहीं आता था। मगर मैं उस से चुदने के लिए तड़प रही थी और वो ऐसा बुद्धू था कि उसको मेरी जवानी दिख ही नहीं रही थी, मैं उसको अपनी गाण्ड हिला हिला कर दिखाती रहती मगर वो देख कर भी दूसरी और मुँह फेर लेता। जहाँ तक कि मैं वैसे भी उसके साथ बात करती तो वो शर्म से अपना मुँह छिपा रहा होता। मैं समझ चुकी थी कि यह शर्मीला लड़का कुछ नहीं करेगा, जो करना है मुझे ही करना है।
एक दिन मैं सुबह के वक्त मैं अपनी सास और ससुर को चाय देकर जब उसके कमरे में चाय लेकर गई तो वो सो रहा था मगर उसका बड़ा सा कड़क लौड़ा जाग रहा था, मेरा मतलब कि उसका लौड़ा पजामे के अन्दर खड़ा था और पजामे को टैंट बना रखा था।

मेरा मन उसका लौड़ा देख कर बेहाल हो रहा था कि अचानक उसकी आँख खुल गई, वो अपने लौड़े को देख कर घबरा गया और झट से अपने ऊपर चादर लेकर अपने लौड़े को छुपा लिया। मैं चाय लेकर उसकी चारपाई पर ही बैठ गई और अपनी कमर उसकी टांगों से लगा दी. वो अपनी टाँगें दूर हटाने की कोशिश कर रहा था मगर मैं ऊपर उठ कर उसके पेट से अपनी गाण्ड लगा कर बैठ गई।
उसकी परेशानी बढ़ती जा रही थी और शायद मेरे गरम बदन के छूने से उसका लौड़ा भी बड़ा हो रहा था जिसको वो चादर से छिपा रहा था।
मैंने उसको कहा- विकास उठो और चाय पी लो !
मगर वो उठता कैसे उसके पजामे में तो टैंट बना हुआ था, वो बोला- भाभी, चाय रख दो, मैं पी लूँगा।
मैंने कहा- नहीं, पहले तुम उठो, फिर मैं जाऊँगी।
तो वो अपनी टांगों को जोड़ कर बैठ गया और बोला- लाओ भाभी, चाय दो।
मैंने कहा- नहीं, पहले अपना मुँह धोकर आओ, फिर चाय पीना।

अब तो मानो उसको कोई जवाब नहीं सूझ रहा था, वो बोला- नहीं भाभी, ऐसे ही पी लेता हूँ, तुम चाय दे दो।
मैंने चाय एक तरफ़ रख दी और उसका हाथ पकड़ कर उसको खींचते हुए कहा- नहीं, पहले मुंह धोकर आओ फिर चाय मिलेगी।
वो एक हाथ से अपने लौड़े पर रखी हुई चादर को संभाल रहा था और चारपाई से उठने का नाम नहीं ले रहा था।
मैंने उसको पूछा- विकास, यह चादर में क्या छुपा रहे हो?
तो वो बोला- भाभी कुछ नहीं है।
मगर मैंने उसकी चादर पकड़ कर खींच दी तो वो दौड़ कर बाथरूम में घुस गया। मुझे उस पर बहुत हंसी आ रही थी। वो काफी देर के बाद बाथरूम से निकला जब उसका लौड़ा बैठ गया।
ऐसे ही एक दिन मैंने अपने कमरे के पंखे की तार डंडे से तोड़ दी और फिर विकास को कहा- तार लगा दो।
वो मेरे कमरे में आया और बोला- भाभी, कोई स्टूल चाहिए जिस पर मैं खड़ा हो सकूँ।
मैंने स्टूल ला कर दिया और विकास उस पर चढ़ गया, तो मैंने नीचे से उसकी टाँगें पकड़ ली, मेरा हाथ लगते ही जैसे उसको करंट लग गया हो, वो झट से नीचे उतर गया।

मैंने पूछा- क्या हुआ देवर जी? नीचे क्यों उतर गये?
तो वो बोला- भाभी जी, आप मुझे मत पकड़ो, मैं ठीक हूँ।
जैसे ही वो फिर से ऊपर चढ़ा, मैंने फिर से उसकी टाँगें पकड़ ली वो फिर से घबरा गया और बोला- भाभी जी, आप छोड़ दो, मुझे मैं ठीक हूँ।
मैंने कहा- नहीं विकास, अगर तुम गिर गये तो.?
वो बोला- नहीं गिरता.. आप स्टूल को पकड़ लीजिये..
मैंने फिर से शरारत भरी हंसी हसंते हुए कहा- अरे स्टूल गिर जाये तो गिर जाये, मैं अपने प्यारे देवर को नहीं गिरने दूंगी.
मेरी हंसी देख कर वो समझ गया कि भाभी मुझे नहीं छोड़ेंगी और वो चुपचाप फिर से तार ठीक करने लगा।

मैं धीरे धीरे उसकी टांगों पर हाथ ऊपर ले जाने लगी जिससे उसकी हालत फिर से पतली होती मुझे दिख रही थी। मैं धीरे धीरे अपने हाथ उसकी जाँघों तक ले आई मगर उसके पसीने गर्मी से कम मेरा हाथ लगने से ज्यादा छुट रहे थे। वो जल्दी से तार ठीक करके बाहर जाने लगा तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और बोली- देवर जी, आपने मेरा पंखा तो ठीक कर दिया, अब बोलो मैं आपकी क्या सेवा करूँ?
तो वो बोला- नहीं भाभी, मैं कोई दुकानदार थोड़े ही हूँ जो आपसे पैसे लूँगा।
मैंने कहा- तो मैं कौन से पैसे दे रही हूँ, मैं तो सिर्फ सेवा के बारे में पूछ रही हूँ, जैसे आपको कुछ खिलाऊँ या पिलाऊँ?
वो बोला- नहीं भाभी, अभी मैंने कुछ नहीं पीना !
और बाहर भाग गया।

मैं उसको हर रोज ऐसे ही सताती रहती जिसका कुछ असर भी दिखने लगा क्योंकि उसने चोरी चोरी मुझे देखना शुरू कर दिया, मैं जब भी उसकी ओर अचानक देखती तो वो मेरी गाण्ड या मेरी छाती की तरफ नजरें टिकाये देख रहा होता और मुझे देख कर नजर दूसरी ओर कर लेता। मैं भी जानबूझ कर उसको खाना खिलाते समय अपनी छाती झुक झुक कर दिखाती, कई बार तो बैठे बैठे ही उसकी पैंट में तम्बू बन जाता और मुझसे छिपाने की कोशिश करता।
मैं तो उसका लौड़ा अपनी चूत में घुसवाने के लिए बेक़रार थी, अगर सास-ससुर घर पर ना होते तो अब तक मैंने ही उसका बलात्कार कर दिया होता।

मगर जल्दी मुझे ऐसा मौका मिल गया। एक दिन हमारे रिश्तेदारों में किसी की मौत हो गई और मेरे सास ससुर को वहाँ जाना पड़ गया।
मैंने आपने मन में ठान ली थी कि आज मैं विकास से चुद कर ही रहूंगी।
सास-ससुर के जाते ही विकास भी मुझसे बचने के लिए बहाने की तलाश में था, पहले तो वो काफी देर तक घर से बाहर रहा, एक घंटे बाद जब मैंने उसके मोबाइल पर फोन किया और खाना खाने के लिए घर बुलाया तब जाकर वो घर आया।
मैं अपना और उसका खाना अपने कमरे में ही ले गई और उसको अपने कमरे में बुला लिया, मगर वो अपना खाना उठा कर अपने कमरे की ओर चल दिया, मेरे लाख कहने के बाद भी वो नहीं रुका तब मैं भी अपना खाना उसके कमरे में ले गई और बिस्तर पर उसके साथ बैठ गई।
वो फिर भी मुझसे शरमा रहा था, मैंने अपना दुपट्टा भी अपनी छाती से हटा लिया मगर वो आज मुझसे बहुत शरमा रहा था, उसको भी पता था कि आज मैं उसको ज्यादा परेशान करूंगी।
मैंने उससे पूछा- विकास.. मैं तुम को अच्छी नहीं लगती क्या.?
तो वो बोला- नहीं भाभी, आप तो बहुत अच्छी हैं.
मैंने कहा- तो फिर तुम मुझसे हमेशा भागते क्यों रहते हो.?
वो बोला- भाभी, मैं कहाँ आपसे भागता हूँ?
मैंने कहा- फिर अभी क्यों मेरे कमरे से भाग आये थे, शायद मैं तुम को अच्छी नहीं लगती, तभी तो तुम मुझसे ठीक तरह से बात भी नहीं करते।

“नहीं भाभी, अभी तो मैं बस यूँ ही अपने कमरे में आ गया था.. आप तो बहुत अच्छी हैं..”
मैंने कहा- झूठ मत बोलो ! मैं तुम को अच्छी नहीं लगती, तभी तो मेरे पास भी नहीं बैठते। अभी भी देखो कैसे दूर होकर बैठे हो? अगर मैं सच में तुम को अच्छी लगती हूँ तो मेरे पास आकर बैठो..
मेरी बात सुन कर वो थोड़ा सा मेरी ओर सरक गया।
यह देख कर मैं बिलकुल उसके साथ जुड़ कर बैठ गई जिससे मेरी गाण्ड उसकी जांघ को और मेरी छाती के उभार उसकी बाजू को छूने लगे..
मैंने कहा- ऐसे बैठते हैं देवर भाभियों के पास.. अब बोलो ऐसे ही बैठो करोगे या दूर दूर.?
वो बोला- भाभी, ऐसे ही बैठूँगा मगर मुझे मौसी गुस्सा तो नहीं होगी? क्योंकि लड़कियों के साथ ऐसे कोई नहीं बैठता।
मैंने कहा- अच्छा अगर तुम अपनी मौसी से डरते हो तो उनके सामने मत बैठना। मगर आज वो घर पर नहीं है इसलिए आज जो मैं तुम को कहूँगी वैसा ही करना।
उसने भी शरमाते हुए हाँ में सर हिला दिया.
अब हम खाना खा चुके थे, मैंने उसे कहा- अब मेरे कमरे में आ जाओ.
वो बोला- भाभी, आप जाओ, मैं आता हूँ।

 



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


hindi famali groupxxx storexxx Indian gailes desi bahan phai Hindi नानी सेक्स हिंदी डॉट कॉम स्टोरी biwi aur bahen chudaichutt ma land sex x ham.comsexyhotchachidostki bivike sath sexy zavazavi katha.com inbahbie sasur sexe kahniegnaw ki ladaki ki sahar mechodai ki kahaniचुद चुदाई कहानी पढते ही चुद गीली हो जाएछोटी सी भोसी मे लम्बा लन्ड़ xxx video10.sal.ki.didi.ko.chooda.hindi.saxi.khani.c.DESI SEXY CHIKO BHARI MAST JABARDAST CHUDAI HINDI KAHANIameer gharane ki aurto ki lambi hindi sexy kahaniastory sarpanch se chudwa hindi me xxx image 2018kahanilundki.comsix video story hindexxx 12 inch ki land si lale bhabe ko chodha raip keya sax katha.comHENDE.XXX.KAHNE.CUDAE.KEwww bas or kara me chuday bhaga1bhaga2. hindi sex stori comxxx.ldki.ki.ki.khani.uhdeo.ma.बहू की चुदाई gandi tarike se हिंदी सेक्सी kahaniyagaon may chudai aunty ki muth marihot aunty ka sharbat photo with kahaninow kahanididi bhi xxx chudaixxx sex hindi chudi kahani teachear studeantjabarjasti seal todi kahaniसवीता वीडीओ चोदने की काहानी सूनाओ ।ANTARAVASNA STORYगोरी चूत पायल की sex fucking khani in hindi 9 inch long lund seSetting banker chudai kamukta.Mast ram didi hum aur dost sath chudai hindimota land choti bachi ko dala kahaniमराठि आई सेकसी कहानीxxx khaniyan.मेरी बहन की चुदाईfuck me jiju fuck me neha ki kahaniगोदी में चुपके से चुद गईंChachi ke sath 3some Chaudai kahani jaberdastise hindi mesexy mom ki bade dudhu dabaeDidi ki लाल chuthot collage girl/nokarani/bus me hot ladki ki kahaniMastaram xxx papa Hindi storyxxx sis all kahani new hastalsex kahaniy jabardasti karke sex kiyaHD porn xxxx गांड मार कर फाड़ देने वाला वीडियोpyas bhai ki behan ke liye hindi sex kahanisxxx video dhod daban jabarjasti xxx dhode ne choda hindi kahaniyakamukta do behene apne patiyon ki adala badali ki sex storyxxx chudai ki khanixxx kahaneलड़कियों के साथxxx करना नगी जबरदसती सेpoojasexstory.hindsar.xxxgandki.kahani.xnxxbhai aapne bhaen ko chada hinda made meGirlfriend ki kameez shalwar utar dixxx. Mammy ki dost ashis ki chodaichhote chhote boobs bra me dabaokamsutra storibae bahan ke cidaehinde x kaniyaकूलर की हवा मे चूदाईjawani sex kahani.inbahnoi.aur.mai.hot.hindi.kahani.com.kamukta.comसकसी चूदवाईxxx.dashe.hindhe.hawaj.bur.mom.khanhe.comजेल मे खिलौने सेचोदाई सेसछमिया कि चुदाइsxe khaneGurumastram.com betagjija sali hindi sex storieshindichudaikahaniyan.comभाई ने बहन को निद की गोली देकर xxx video हिन्दी आवाज मेमाँ बेटे के बदनाम रिश्ते कहानीbadi didi ko sote hue choda xxx kahani storiesनीतु भाभी की चुदाइ नई कहानीMami ke boor chudai patna ke tel laga kedidiaunty ki 89xnxx.com nid me ak paas let kar dhire dhire dekh chod depariwar me chudai ke bhukhe or nange logchut me chumma lena chaiyeहॉट सेक्सी चुड़ै १८सल कीmasti.bhari.xxx.video.jo.kabhi.chudi.na.hohinde grup sex storyChachi Didi or no karani ki chudai kahanisasur na bari bahu ki gand mara or choda xnxx sex kahaniesसुहागरात में बुर फट गईCUT CUDAI KI KAHANIइंडियन मम्मी अन्तर्वासना साडी स्टोरीhindisxestroySaxy chuth land storyअजनवी तोडी चूति की सीलwww sex khani hindi me mjedar nyasex काहानी सेक्सी दीदीghar aake chodaxxx.comमा की जबरदस्त बुर फाड़ चुदाईहिन्दी भाषा मे ज़बरदस्ती सेक्सी चोदिई