मेरा नाम पिंकी है मेरा छोटा भाई मुकेश बारहवीं में पढ़ता है। वह गोरा चिट्टा और क़रीब मेरे ही बराबर लंबा भी है और वह मुझे दीदी कहता है। मैं इस समय 20 की हूँ और वह 18 का। मुझे मुकेश के गुलाबी होंठ बहुत प्यारे लगते हैं, दिल करता है कि बस चबा लूँ। पापा मिस्त्री है और माँ प्राइवेट जॉब में हैं। माँ कई बार जॉब की वजह से कहीं बाहर जाती रहती हैं उन दिनों मैं घर में बस हम दो भाई बहन ही रह जाते थे।

एक बार माँ तीन दिनों के लिए बाहर गई थी। रात को हमने डिनर के बाद कुछ देर टीवी देखा फिर अपने-अपने कमरे में सोने के लिए चले गये।

क़रीब एक घंटे बाद प्यास लगने की वजह से मेरी नींद खुल गई। बोतल देखी तो ख़ाली थी, मैं उठकर रसोई में पानी पीने गई तो लौटते समय देखा कि मुकेश के कमरे की लाइट जल रही थी और दरवाज़ा भी थोड़ा सा खुला था। मुझे लगा कि शायद वह लाइट ऑफ करना भूल गया है, मैं ही बंद कर देती हूँ। मैं चुपके से उसके कमरे में गई लेकिन अंदर का नज़ारा देखकर मैं हैरान हो गई।

मुकेश एक हाथ में कोई किताब पकड़कर पढ़ रहा था और दूसरे हाथ से अपने तने हुए लंड को पकड़कर मुट्ठ मार रहा था। मैं कभी सोच भी नहीं सकती थी कि इतना मासूम लगने वाला लड़का ऐसा भी कर सकता है। मैं दूर चुपचाप खड़ी उसकी हरकत देखती रही, लेकिन शायद उसे मेरी उपस्थिति का आभास हो गया, उसने मेरी तरफ़ मुँह फेरा और दरवाज़े पर मुझे खड़ा पाकर चौंक गया।

वह बस मुझे देखता रहा और कुछ भी ना बोल पाया। फिर उसने मुँह फ़ेर कर किताब तकिए के नीचे छुपा दी। मुझे भी समझ ना आया कि क्या करूँ। मेरे दिल में यह ख़्याल आया कि कल से यह लड़का मुझसे शरमायगा और बात करने से भी कतराएगा। घर में इसके अलावा और कोई है भी नहीं जिससे मेरा मन बहलता।

मुझे अपने दिन याद आए, मैं और मेरा एक कज़न इसी उमर के थे जबसे हमने मज़ा लेना शुरू किया था, तो इसमें कौन सी बड़ी बात हुई अगर यह मुट्ठ मार रहा था।

मैं उसके पास गई और उसके कंधे पर हाथ रखकर उसके पास ही बैठ गई वह चुपचाप रहा।

मैंने उसके कंधों को दबाते हुए कहा- अरे यार, अगर यही करना था, तो कम से कम दरवाज़ा बंद कर लिया होता।

वह कुछ नहीं बोला, बस मुँह दूसरी तरफ़ किए रहा।

मैंने अपने हाथों से उसका मुँह अपनी तरफ़ किया और बोली- अभी से यह मज़ा लेना शुरू कर दिया? कोई बात नहीं, मैं जाती हूँ, तू अपना मज़ा पूरा कर ले। लेकिन ज़रा यह किताब तो दिखा।

मैंने तकिए के नीचे से किताब निकाल ली। वह हिंदी में लिखी मस्तराम की किताब थी। मेरा कज़न भी बहुत सी किताबें इसी लेखक की लाता था और हम दोनों ही मज़े लेने के लिए साथ-साथ पढ़ते थे। चुदाई के समय खानियों के डायलोग बोलकर एक दूसरे का जोश बढ़ाते थे।

जब मैं किताब उसे देकर बाहर जाने के लिए उठी तो वह पहली बार बोला- दीदी, सारा मज़ा तो आपने ख़राब कर दिया, अब क्या मज़ा करूँगा।

“अरे, अगर तूने दरवाज़ा बंद किया होता तो मैं आती ही नहीं !”

“अगर आपने देख लिया था तो चुपचाप चली जाती !”

अगर मैं बहस मैं जीतना चाहती तो आसानी से जीत जाती लेकिन मेरा वह कज़न क़रीब 6 महीने से नहीं आया था इसलिए मैं भी किसी से मज़ा लेना चाहती ही थी। मुकेश मेरा छोटा भाई था और बहुत ही सेक्सी लगता था इसलिए मैंने सोचा कि अगर घर मैं ही मज़ा मिल जाए तो बाहर जाने की क्या ज़रूरत। फिर मुकेश का लौड़ा अभी कुंवारा था। मैं कुंवारे लंड का मज़ा पहली बार लेती इसलिए मैंने कहा- चल अगर मैंने तेरा मज़ा ख़राब किया है तो मैं ही तेरा मज़ा वापस कर देती हूँ।

मैं पलंग पर बैठ गई और उसे चित्त लिटाया और उसके मुरझाए लंड को अपनी मुट्ठी में ले लिया। उसने बचने की कोशिश की पर मैंने लंड को पकड़ लिया था।

अब मेरे भाई को यक़ीन हो चुका था कि मैं उसका राज़ नहीं खोलूँगी इसलिए उसने अपनी टांगें खोल दी ताकि मैं उसका लंड ठीक से पकड़ सकूँ। मैंने उसके लंड को बहुत हिलाया, सहलाया लेकिन वह खड़ा ही नहीं हुआ।

वह बड़ी मायूसी के साथ बोला- देखा दीदी, अब खड़ा ही नहीं हो रहा है।

“अरे क्या बात करते हो ! अभी तुमने अपनी बहन का कमाल कहाँ देखा है, मैं अभी अपने प्यारे भाई का लंड खड़ा कर दूँगी।” ऐसा कह मैं भी उसकी बगल में ही लेट गई, मैं उसका लंड सहलाने लगी और उसे किताब पढ़ने को कहा।

“दीदी मुझे शर्म आती है !”

“साले अपना लंड बहन के हाथ में देते शर्म नहीं आई?” मैंने ताना मारते हुए कहा- ला, मैं पढ़ती हूँ।

और मैंने उसके हाथ से किताब ले ली। मैंने एक कहानी निकाली जिसमें भाई बहन के डायलोग थे और उससे कहा- मैं लड़की वाला बोलूँगी और तुम लड़के वाला।

मैंने पहले पढ़ा- अरे राजा, मेरी चूचियों का रस तो बहुत पी लिया, अब अपना बनाना शेक भी तो मुझे चखा !

“अभी लो रानी, पर मैं डरता हूँ इसलिए कि मेरा लंड बहुत बड़ा है तुम्हारी नाज़ुक कसी चूत में कैसे जाएगा।”

और इतना पढ़ कर हम दोनों ही मुस्करा दिए क्योंकि यहाँ हालत बिल्कुल उल्टे थे। मैं उसकी बड़ी बहन थी और मेरी चूत बड़ी थी और उसका लंड छोटा था। वह शरमा गया लेकिन थोड़ी सी पढ़ाई के बाद ही उसके लंड में जान भर गई और वह तन कर क़रीब 6 इंच का लंबा और 1.5 का मोटा हो गया।

मैंने उसके हाथ से किताब लेकर कहा- अब इस किताब की कोई ज़रूरत नहीं। देख, अब तेरा खड़ा हो गया है, तू बस दिल में सोच ले कि तू किसी की चोद रहा है और मैं तेरी मुट्ठ मार देती हूँ।

मैं अब उसके लंड की मुट्ठ मार रही थी और वह मज़ा ले रहा था, बीच बीच में सिसकारियाँ भी भरता था। एकाएक उसने अपने चूतड़ उठाकर लंड ऊपर की ओर ठेला और बोला- बस दीदी !

और उसके लंड ने गाढ़ा पानी फैंक दिया जो मेरी हथेली पर गिरा। मैं उसके लंड के रस को उसके लंड पर लगाती और उसी तरह सहलती रही और कहा- क्यों भाई, मज़ा आया?

“सच दीदी, बहुत मज़ा आया !”

“अच्छा यह बता कि ख़्यालों में किसकी ले रहा था?”

“दीदी शर्म आती है, बाद मैं बताऊँगा !” इतना कह उसने तकिए में मुँह छुपा लिया।

“अच्छा चल अब सो जा, नींद अच्छी आएगी। और आगे से जब ये करना हो तो दरवाज़ा बंद कर लिया करना !”

“अब क्या करना दरवाज़ा बंद करके दीदी, तुमने तो सब देख ही लिया है !”

“चल शैतान कहीं का !” मैंने उसके गाल पर हल्की सी चपत मारी और उसके होंठों को चूमा। मैं और क़िस करना चाहती थी पर आगे के लिए छोड़ कर वापस अपने कमरे में आ गई।

अपनी शलवार कमीज़ उतार कर नाईटी पहनने लगी तो देखा कि मेरी कच्छी बुरी तरह भीगी हुई है मुकेश के लंड का पानी निकालते निकालते मेरी चूत ने भी पानी छोड़ दिया था। अपना हाथ कच्छी में डालकर अपनी चूत सहलाने लगी तो स्पर्श पाकर मेरी चूत फिर से सिसकने लगी और मेरा पूरा हाथ गीला हो गया। चूत की आग बुझाने का कोई रास्ता नहीं था सिवा अपनी उंगली के।

मैं बेड़ पर लेट गई, मुकेश के लंड के साथ खेलने से मैं बहुत उत्तेजित थी और अपनी प्यास बुझाने के लिए अपनी बीच वाली उंगली जड़ तक चूत में डाल दी, तकिए को सीने से कसकर भींचा और जांघों के बीच दूसरा तकिया दबा आँखें बंद की और मुकेश के लंड को याद करके उंगली अंदर-बाहर करने लगी। इतनी मस्ती छा गई थी कि क्या बताऊँ, मन कर रहा था कि अभी जाकर मुकेश का लंड अपनी चूत में डलवा लूँ।

उंगली से चूत की प्यास और बढ़ गई इसलिए उंगली निकाल तकिए को चूत के ऊपर दबा औंधे मुँह लेटकर धक्के लगाने लगी। बहुत देर बाद चूत ने पानी छोड़ा और मैं वैसे ही सो गई।

loading...

Write A Comment


Online porn video at mobile phone


antarvasna maa kiचुत चुदई सेकस काहनी हिनदीbada bur and guda xxx desi v.d.xxx.kuta.ldki.hindi.khani.Devar ki malish bhabi ne ki kahani pornxxxhindi bur me land ka Jana bur se khunnoker malkin ki shamuhik chudai ki khaniyaBehan Bhai Se Kiya shadi aur suhagraat chudai Hindi kahanijor ki jatka jor ki jatka sex xxx xxx jabrdstixxxkahanirandiसैकसी कहानीchor ne bhai se chodbaya xxx storys hindi menangi kahaniyamaa didi aur me desi kahani group waliकालेज की चुदाई काहानिया.come jor ki jatka jor ki jatka sex xxx xxx jabrdstibehan ko khet me gand mari storiesovi.com/ xxx land chootबिलकूल.नगी.चूदाई.सैकसी.विडीयोbhabhi ne akele me mera lund pakad liya sex xxx HD videos. comXxx sexi chai maine zabardasti chuvaya hindi kahaniyagirlfriend ne lollypop ke jaise land chusa Hindi sex stories maa ke sath sexy karake ausase sadi kar miya xxx kahani hindi meभाई bhien xxxhindai कहानीचचेरी बहन को लंड दिखाकर बुर चुदाईind sex चूत पिता ने पाठचूत में लिंगTUK LAGA KAR MU ME LAND LIKAR CUDAE KE KHANIYAभाभी की बुर छोड़ै कहानीma bete ke room me apne boy friend se deli chudayai karwati thi khanimeri chut student ki pyasi kahaniआटी बुर पानी छोडाitni.gori.itni.gori.vhut.xnxx.antarvasna top storyxxx.bete.ne.apani.mai.ko.barbad.kar.ke.usko.chodane.lag.gaya.photo.comchudi ki khanihot sex kahaniynakhrely bhabhi ko choda sexy kahanyaxxx papa ne tight chut ka fayda liyaबुर छुड़ाया दुकान मेंbehan ki naghi chut hindi sexn storybahtije ne chachi ko apne vash me karke choda xxx new storyhindi.me.samuhik.suhagrat.sexsaxey peecarkhani of sexdhud wahle ke chudaydauda dauda ke chodana xxx.video.comjiji ne 15 sal ke bhai se chudai karai ki kahanichut chudai ki kahanianaunti ko bagal wale khandar me lejakar sex kiya video chudai aunty kinwe 2018 KAMUKTA BHABHI KO JAWAR JASTI CHNDAसेक्सी देवर भाभी ब्रा स्टोरीबस में सैक्स कहानीxxx batiji ki cudai hindi storybahan ki cut ka mut ka svad namkin sexe kahani kamukta hindi kahaniyasas ne dekh li parosi bhabhi kisex storydesi sex gande kahani ghodhe ka landtrin m safer m sexey Aunti ke khani sexey hindeघर मालकिन साडी Xnxx hindi ma saxe khaneyama ke bubs ka dud xxx hindi storynana xx kahania hindi meदीदी की चुदाई की सेक्स कहानिया और फोटो may 2018xxx.dashe.hindhe.khanhe.babhie.comसेक्सी चूत स्टोरी grawalo ke oas hi chut chudaisaali ki sardi me ki chudaai storyxxxhd Neend Mein karne ke liyekankh me bal dekhkar chodai ki kahanibanarasi ki xxx kahaniyachootsexykahaniyabig ass aunties stories pics archeive newसाडी में सुहाग रात पौरन पौर सेक्सी मूवी poojasexstory.hindpahlichudaikikahani9 inch lund hindi storyxxx mami ki photu ka sath chudai pariwar me chudai ke bhukhe or nange logसविता आडीयो ईसटोरी चूदाई कीporn ki kahanixxx chudai ki khanibarsat mai puri raat chala chudai ka khel nyi hindi sex story auntyनींद में भाई चोदा जबरदस्ती sexy स्टोरीxxxx.hindi.longwej.bap.beti.sexx.free.videobhabhi ji namaskar xxhindi kahani sexy chudail ruh but burPUNJABI SEXYKHANEYASEXY KHANI MERE SASUR AUR MERI NANDbhabhi ki jawani ko maa ne tanda kerwayakamukta berahmi x storyvatija ne chacho ko khus kar diya sex video comdide ka chootadसुखी चुतबुआ ने mutth pilayasexy mami Hogi aur Bhanje ki chudai wali Gand Mein dalne wali downloadhot saxe khaneya bast kaisa new newkamukta in vedhvasirf boy ro boy secxx bidioxnxx.com इंडियन 20 साल की भाभी को थूक लगाकर चोदाmaa ko sarab pilakar xxx kahani hindi me 2018