गाँव की लड़की को चोदने का मजा

Click to this video!

मेरा नाम अमित है, और मैं ३४ साल का हूं, मेरी हाइट ५ फुट ८ इंच है और मेरा पेनिस ६ इंच लंबा है. मुझे लड़कियों के बोबे बहुत अच्छे लगते हैं और मेरी नजर जब भी किसी लड़की के बोबे की तरफ जाती है तब मेरा पेनिस तेजी से लंबा होने लगता है. मेरी शादी नहीं हुई है और मेरे घर वाले मेरे लिए लड़की तलाश कर रहे हैं.

यह बात १ साल पहले की है जब मैं ३३ साल का था और मेरे पेरेंट्स को काफी तलाश के बाद कुछ लड़कियों का पता मिला, उन्हीं में से एक लड़की को मेरे पैरेंट्स ने पसंद किया और १ दिन उसके घर जाने का प्रोग्राम बनाया गया.

मैंने कभी किसी लड़की से दोस्ती नहीं की थी और ना ही स्कूल या कॉलेज में किसी लड़की से बात करता था, क्योंकि मैं स्वभाव से शर्मिला हूं, पर टीवी या रास्ते में जब किसी लड़की को देखता तो मेरी नजर उनके बोबे पर ही जाती थी, अब स्टोरी पर आता हूं.

फिर एक दिन मैं और मेरा परिवार उस लड़की के घर पहुंच गए, लड़की गांव की रहने वाली थी.

यहां मैं आपको एक बात बता दूं कि हमारा परिवार कोलकाता पश्चिम बंगाल में रहता है मेरी मां कहती है कि गांव की लड़कियां शहर की लड़कियों से ज्यादा अच्छी होती है और इसीलिए वह मेरी शादी गांव की लड़की से कर रही है.

वह दिसंबर का महीना था और सर्दी की हवाएं चल रही थी हम लोग जैसे ही लड़की के घर गए तो उसके परिवार ने हमारा स्वागत किया, और अंदर ले जाकर बैठाया. लड़की के घर में १५ से १६ लोग रहते थे और सभी हमें घूर घूर कर देखने लगे.

लड़की के पैरेंट्स मुझे ऐसे देखते रहे जैसे कि मानो कोई एलियन हु, फिर हमें कोल्ड ड्रिंक और नाश्ता दिया गया और नाश्ते के बाद लड़की के परिवार वाले हम से हमारे बारे में पूछने लगे. एक लंबे इंटरव्यू के बाद आख़िर में वह घड़ी आ गई जब लड़की की एंट्री होनी थी.

हम सब उस कमरे की तरफ देखने लगे जहां से वह निकलने वाली थी. अचानक कमरे का दरवाजा खुला और एक ५ फुट ३ इंच की सांवली सी लड़की बाहर निकली, उसने प्रिंटेड साड़ी और ग्रीन कलर की ब्लाउज पहनी थी. वह दिखने में दुबली थी पर स्मार्ट लग रही थी, मेरी नजर उसके बूबे पर पड़ी.

उसके बूबे ३४ साइज के थे. यहां मैं एक और बात बता दूं कि मुझे दुबली बॉडी और बड़े दूध वाली लड़कियां बहुत ही पसंद है, और मैं जब भी किसी लड़की किसकी दुबली बॉडी पर बड़े बड़े बॉबे को देखता हूं तो मेरा पेनिस फटने लगता है.

फिर तो धीरे-धीरे वह लड़की हमारी तरफ आने लगी और एक कुर्सी पर बैठ गई, मेरी मां को तो वह पहले ही पसंद थी.

तो थोड़ी देर चुप रहने के बाद मेरी मां ने उसे अपने पास बुलाया लड़की का नाम शोमा था.

फिर वह उठकर मेरी मां की तरफ बढ़ने लगी. मैं हैरान रह गया उसकी चाल अब फिल्मी मॉडल जैसी हो गई थी. वह अपनी कमर मटकती हुई और अपनी ३४ के बुबे को उछल उछल कर चल रही थी, यह देख कर मेरा पेनिस तेजी से लंबा हो रहा था और पैंट तंबू बन रहा था.

हम दोनों एक छोटे से कमरे में आ गये और यहां एक ४० वाट का बल्ब लो वोल्टेज के कारण मरियल सा जल रहा था, थोड़ी देर चुप रहने के बाद शोमा बोली क्या आपको गांव में रहना पसंद है? मैं बोला नहीं.

तो वह बोली मुझे गांव में रहने वाले लड़के ज्यादा पसंद है, उसके बाद वह बहुत सारे भाषण देने लगी.

मैं उसके बोबे देख रहा था, वह बीच-बीच में अपनी साड़ी को ठीक कर रही थी और ब्लाउज को खींचकर अपने पेट तक ला रही थी.

अचानक मैं अपनी जगह से उठा और उसके पास गया मैंने अपनी उंगली उसके होठ पर रखकर उसे चुप रहने का इशारा किया, वह चुप हो गई और मेरी तरफ देखने लगी. फिर मैंने कहा कि आपका फिगर और बूब्स बहुत हॉट है.

यह सुनकर वह मुस्कुराई फिर वह जैसे ही अपनी साड़ी का पल्लू ठीक करने लगी मैंने अपना दाहिना हाथ उसके पेट पर रख दिया. उसके मुंह से उह्ह्ह निकली. फिर मैंने दोनों हाथों से उसकी कमर को हल्के से दबाया और गाल पर किस किया.

वह खुशी से उछलने लगी, फिर हम दोनों ने एक दूसरे को गले से लगाया और कुछ देर किसिंग करते रहे. इस दौरान मेरा एक हाथ उसकी पीठ को और दूसरा हाथ उसके पेट को सहला रहा था.

उसके बाद मैंने उसकी साड़ी का पल्लू हटाया और ब्लाउज के ऊपर से उसके बोबे को हलके से सहलाया. वह ज्यादा मस्त हो गई. फिर मैंने उसके गाल पर होंठों को जोर जोर से चूमा वह मदहोश हो रही थी.

फिर मैंने उसके लेफ्ट बूबे को सहलाते हुए राइट बूब्स को किस किया और इस दौरान मैंने अपने पैर से उसके पैर को रगड़ रहा था.

वह गर्म होने लगी और उसने मुझे इशारे से कमरे का दरवाजा बंद करने को कहा, मैंने कहा कि अब हमें बाहर चलना चाहिए. क्योंकि घरवाले हमारा इंतजार कर रहे हैं.

तो उसने कहा कि अभी हमें आए सिर्फ १५ मिनट हुए हैं और उसे मेरे साथ और १५ मिनट बिताने हैं, उसने कहा मुझे बहुत अच्छा लग रहा है थोड़ी देर और करिए ना.. मैं इस बात से हैरान रह गया और सोचा कि गांव की लड़कियां भी कुछ कम नहीं है.

कमरे का दरवाजा बंद करते ही उसने अपनी साड़ी उतार दी, वह अब ब्लाउज और ब्लैक पेटीकोट में थी, और उसके बड़े बड़े साफ नजर आ रहे थे. क्योंकि वह ब्लाउज खींचती रहती थी.

मैं वहां एक कुर्सी पर बैठ गया और उसे अपनी गोद में लेकर जी भर के किस करने लगा. उसने भी मेरा साथ दिया. सर्दी के मौसम की ठंडी सुबह में हम दोनों का गर्म गर्म जिस्म और गर्म सांसे जब एक दूसरे को छू रही थी तो हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था. वह भी मुझे अपने बाहों में कस के पकड़ रही थी.

फिर मैंने अपना एक हाथ उसके पेटीकोट के अंदर डाल कर उसकी चूत को हल्के से दबाया और दूसरे हाथ से उसके राइट बूब्स को दबाते हुए उसके नेक को किस करने लगा.

मैंने कहीं पढ़ा था कि लड़कियों के बूब्स को सहलाने या दबने से वह उत्तेजित होती हैं और उनकी चूत भी गीली होकर पानी छोड़ती है, और अगर उनके बूब्स और चूत को एक साथ सहलाया जाए तो वह और भी ज्यादा उत्तेजित हो जाती है.

उसके साथ भी ऐसा ही हुआ और वह खुशी से मोनिंग करने लगी, उसकी चूत भी बहुत गीली हो गई थी पर उसने ज्यादा पानी नहीं छोड़ा.

वह गरम हो रही थी और उसने धीरे से कहा प्लीज जल्दी से जो करना है करो ना अमित… जल्दी से अपना वह डंडा मेरे होल में डाल दो ना.. इस पर मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल कर अंदर बाहर करते हुए उसके गालों होंठों और सर पर जल्दी-जल्दी किस किया.

यह सिलसिला ५ मिनट तक चलता रहा. उसे अब कंट्रोल नहीं हुआ और उसने अपनी जांघ को कस कर पकड़ा और अपना पानी तेजी से छोड़ दिया.. यह उसका पहला ऑर्गेज्म था.

मैंने उसे चिढ़ाते हुए कहा औहह माँ शोमा इतनी बड़ी होने के बाद भी कपड़ों में सुसु करती है. तुम्हारा नाम शोमा नहीं बल्कि शुसु होना चाहिए था. तो वह अपने मुंह पर हाथ रख कर हंसने लगी और बोली क्या करूं तुम मुझे इतना प्यार करोगे तो इंजॉयमेंट के मारे मेरा सूसू तो निकलेगा ही ना.

इतना कहने के बाद वह और गर्म हो गई थी और मेरा सर पकड़के ब्लाउज के ऊपर से अपने बूब्स पर उसे दबाने लगी, मैंने भी उसका पेट जोर से दबा दिया और फिर से उसकी चूत पर उंगली करने लगा, और इस बार मैंने अपनी तीन उंगली उसकी चूत पर डाल दी और अंदर बाहर करने लगा.

वह मचलने लगी और मुझे कस के अपने सीने से लगा दिया, ऐसा थोड़ी देर चला और उसने फिर से अपना पानी छोड़ दिया. उसने कहा प्लीज अब डाल दो अपना. मुझे बर्दाश्त नहीं हो रहा, बहुत दिनों से मैं प्यासी हूं बहुत दिन किसी ने नहीं डाला..

तो मैंने पूछा क्या तुम पहले भी सेक्स कर चुकी हो?

उसने कहा हां ३ महीने पहले मेरे बॉयफ्रेंड के साथ किया था, अब वह स्टडी करने शहर गया है तो मेरा यहां सेक्स के बिना बुरा बुरा हाल है, मैं समझ गया था कि गांव की लड़कियां शहर की लड़कियों से १० कदम आगे है.

पर अब मुझे शोमा के साथ सेक्स करने का बहुत मन हो रहा था, तो मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए और अब वह पूरी नंगी बड़े बड़े बूब और खुले बालों में किसी हॉट सेक्स बम से कम नहीं थी. मेरा पेनिस पूरा ६ इंच खड़ा हो गया था और फटने लगा था.

मुझे सेक्सुअल पोजीशन की ज्यादा जानकारी नहीं थी पर टीवी पर देखा था कि लड़का या तो लड़की को खड़े-खड़े पीछे से पकड़कर पेनिस डालता है या अपनी गोद में बैठाकर पेनिस डालकर उछलता है, या लड़की के ऊपर लेट कर डालता है.

तो मैंने उस को अपने गोद में बिठाकर उसके पूरे बॉडी को किस किया, फिर दोनों हाथों से उसके मोटे मोटे दूध को जोर से दबाया. वह खुशी से पागल हो रही थी और उसकी चूत फिर गीली हो गई, फिर मैंने उसको कस के अपने सीने से लगाया और उसके बालों और जांघों को सहलाने लगा.

वह बहुत गर्म हो रही थी और उसने मेरे बालों को पकड़कर अपनी तरफ खींचा और मेरा सर अपने बूब्स पर लगाने लगी, इधर मैंने अपने कपड़े उतार दिए और अपना खड़ा लंड उसकी चूत के होठ पर रगड़ने लगा, जिससे वह बहुत गरम हो गई और मेरा पेनीस पकड़कर उसे रगड़ने लगी.

मुझे बहुत अच्छा लगा तो मैंने उसके लिप्स में लिप्स डाल कर चूसने लगा और उसके एक बुब्स को दबाया और दूसरे को सहलाने लगा. वह उछल कर अपनी चूत मेरे लंड से रगड़ने लगने उसके मुंह से आह उऔउ मा औऊ ईई निकल रही थी.

फिर मैंने उसके सेक्सी निप्पल को पिंच किया और उन्हें दबाया, उसकी चूत पर उंगली डालकर देखा तो वह बहुत गीली और गर्म थी. मैं उंगली करने लगा तो १ मिनट में चूत से बहुत पानी तेजी से निकल गया.

वह बोली अमित प्लीज डाल दो अब मुझसे रहा नहीं जा रहा.. बहुत दिनों से चूत में कुछ नहीं गया है, तो बहुत बेचैनी होती है. मैं बहुत दिन उंगली भी नहीं की क्योंकि मेरे राइट हैंड में चोट लगी थी.

मैंने भी देखा कि वह बहुत प्यासी थी और उसकी चूत थोड़ी थोड़ी देर बाद बहुत पानी छोड़ रही थी मैंने अपना लंड उसके चूत के होंठ पर टिका दिया और हल्का सा धक्का लगाया पर इससे पहले में कुछ और करता उसकी चूत ने फिर से पानी छोड़ दिया.

पर अब उसकी चूत गीली होने से बहुत चिकनी हो गई थी और पेनिस आसानी से अंदर बाहर हो रहा था.

मैंने फिर धक्का लगाया तो आधा पेनीस झट से अंदर चला गया और साथ ही उसके मुंह से ओह अमाम्मम्म मां निकली और उसने कहा वाह बेबी अब मैं धीरे-धीरे पेनिस अंदर बाहर करने लगा क्योंकि उसको मजा आ रहा था, फिर मैं उसके होंठ और सर को तेजी से किस करने लगा जिससे उस की चूत और गीली और बड़ी हो जाए. उस ने मुझे अब जोर जोर से चोदने को कहा..

उस ने कहा मुझे और ओर्गज्म आ रहा है, कुछ करो. मैंने उसे धक्का लगाया तो पूरा पेनिस अंदर चला गया, पर इस बार वह चुप रही.

अब मैंने उसके बूब्स को सहलाते हुए उसके नेक और कंधे को किस कर रहा था और पेनिस भी अंदर बाहर हो रहा था.

उस ने कहा अमित मेरा निकलेगा और फिर उसका पानी तेजी से निकला, २ मिनट बाद मैंने भी अपना गरम पानी उसकी चूत में छोड़ दिया, वह खुशी से आआह उऔ ओह हहह करने लगी.

हम थोड़ी देर एक दूसरे पर लेटे रहे मैंने टाइम देखा तो १५ मिनट से ज्यादा हो गया था, मतलब हम यह सब करते हुए ४५ मिनट हो गया था, मैंने सोचा अगर कोई यहां आ गया तो??

मैंने उसे कहा तो वह जल्दी से अपने नंगे बदन पर सिर्फ साड़ी और ओढ़ के बाहर चली गई और २ मिनट बाद आई और कहां अभी तुम्हारे और मेरे घरवाले गांव घूमने गए हैं उनको आने में देर लगेगी, तो चलो ना थोडा और मस्ती कर लेते हे. मेरे मना करने पर उसने एकदम नशीले अंदाज में कहा चलो ना अमित थोडा और मजा करे चलो.

में उस पर फ़िदा हो गया और हम बेड पर लेट गयें, में उसके बूब्स को जोर से मसलने लगा और उसके नेक पर किस करने लगा, और अपना गाल उसके गाल पे रगडने लगा, फिर वह पागल हो गयी और मुझे हग कर दिया.

अब मेने अपने पेनिस को पुसी में रगड के अन्दर घुसा दिया और अंदर बहार करने लगा और साथ ही उसको कस के हग करने लगा.

वह मजा ले रही थी और हम ने लिप किस किया, जोर जोर से चुदाई चल रही थी और वो दो बार जड गयी पर पानी कम निकला.

उसके एक मिनिट बाद मेने भी अपना पानी उसकी चूत में छोड़ दिया वो बहुत खुश हुई और अहह उऔ उई करने लगी.

वह बोली आज में बहुत संतुष्ट फिल कर रही हु, तुमने मेरी प्यास बुजा दी.

फिर हम कपड़े पहन कर कमरे से बहार आये में फिर अपने घर लौट आया.

इस घटना के दो महीने बाद मुझे पता चला की शोमा के घरवालो ने उसकी शादी उसी बॉयफ्रेंड से पक्की कर दी हे.

Aur Sex Kahaniya